gurmeet ram rahim singh | wikifeed.in
NEWS

आज गुरमीत राम रहीम को रेप केश के जुर्म में दोपहर 2:30 बजे धारा 376 के तहत सुनाई जा सकती हे. ये सजा

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

gurmeetji | wikifeed.in

डेरा सच्चा सौदा गुरमीत राम रहीम के खिलाप और कारवाही करने के बाद सीबीआई और सुप्रीम कोर्ट ने राम रहीम के यौन उत्पीड़न करने के मुताबिक कोर्टन ने धारा 376 के तहत जो मामला कोर्ट में चल रहा था। इस धारा के तहत यह एक आईपीसी की गंभीर श्रेणी में आता हे। तो ऐसे अपराध करने वाले व्यक्ति को कड़ी-से कड़ी सजा का गुनेगार हे। तो आई हम आपको बताते हे की धारा 376 के तहत किया किया सजा मिलना अनिवार्य हे।

तो जानिए क्या है आईपीसी की धारा 376 के मुताबि की सजा

 Punishment of 376 | wikifeed.in

यदि कोई भी व्यक्ति किसी महिला या नाबालिक के साथ बलात्कार करने का आरोप लगाया जाता हे या किया हे तो उस व्यक्ति को आईपीसी धारा 376 के तहत मुकदमा दर्ज किया जाता हे। और यदि वह व्यक्ति अपराध किय जाने पर शीद हो जाता हे तो उसे दोषी का करार देते हुवे कम से कम 7 साल की सजा और अधिकतम 10 साल की कड़ी से कड़ी सजा दिय जाने का प्रावधान हे। और बहुत से अपराधी को इन दुष्कर्म करने वाले अपराधी को उम्रकैद की भी सजा देना भी अनिवार्य हे और इसके अलावा दोसी पर और भी जुर्म लगाया जा सकता हे।

यदि कोई पति अपने पत्नी से रेप करने पर का आरोप लगाती हे तो उसको भी किया सजा होती हे.

 Husband accused of raping his wife | wikifeed.in

यदि किसी व्यक्ति ने अपनी पत्नी के साथ जब्र दस्ती या उस महिला के साथ बलात्कार किया है जो उसकी पत्नी है, और उसकी पत्नी की आयु बारह वर्ष से कम नहीं है, तो आरोप सिद्ध होने पर दोषी को दो वर्ष तक की सजा हो सकती है. या उस पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है. कई मामलों में अदालत पर्याप्त और विशेष कारणों से सजा की अवधि को कम कर सकती हैं

 के वियदि कोई पुरुष किसी महिला की इच्छारुद्ध, उसकी सहमति के बिना सम्बन्ध बनाने की कोशिस करता हे तो उसे आईपीसी की धारा 375 के तहत भी सजा देने का अनिवार्य हे।

 Husband accused of raping his wife | wikifeed.in | wikifeed.in

यदि कोई पुरुष किसी महिला की इच्छा के विरुद्ध, उसकी सहमति के बिना, उसे डरा धमकाकर, उसका नकली पति बनकर, दिमागी रूप से कमजोर या पागल महिला को धोखा देकर और उसके शराब या अन्य नशीले पदार्थ के कारण होश में नहीं होने पर उसके साथ सम्भोग करता है तो वह बलात्कार ही माना जाएगा. यदि स्त्री 16 वर्ष से कम उम्र की है तो उसकी सहमति या बिना सहमति के होने वाला सम्भोग भी बलात्कार है. यही नहीं यदि कोई पुरुष अपनी 15 वर्ष से कम उम्र की पत्नी के साथ सम्भोग करता है तो वह भी बलात्कार ही है. इस सभी स्थितियों में आरोपी को सजा हो सकती है.

यदि कोई भी अपराधी कोई भी दुष्कर्म करता हे तो हर स्थिति में लागू होता है यह कानून

उपधारा (2) के अन्तर्गत बताया गया है कि कोई पुलिस अधिकारी या लोक सेवक अपने पद और शासकीय शक्ति और स्थिति का फायदा उठाकर उसकी अभिरक्षा या उसकी अधीनस्थ महिला अधिकारी या कर्मचारी के साथ संभोग करेगा, तो वह भी बलात्कार माना जाएगा. यह कानून जेल, चिकित्सालय, राजकीय कार्यालयों, बाल एवं महिला सुधार गृहों पर भी लागू होता है. सभी दोषियों को कठोर कारावास की अधिकतम सजा हो सकती है. जिसकी अवधि दस वर्ष से कम नहीं होगी.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Add Comment

Click here to post a comment