karma ritanepa - wikifeed
Information NEWS

नेपाल की कामी शेरपा ने 22वीं बार एवरेस्ट पर चढ़कर बनाया विश्व रिकॉर्ड

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नेपाल के 48 वर्षीय पर्वतारोही कामी रिता शेरपा ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट पर 22वीं बार चढ़कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है। इस बार शेरपा ने 13 लोगों की टीम के साथ 8,845 मीटर ऊंची चोटी पर दक्षिणपूर्वी रिज रूट से चढ़ाई की। वर्ष 1953 में एवरेस्ट पर सबसे पहले पहुंचने वाले तेनजिंग नोरगे और सर एडमंड हिलेरी ने भी इसी रूट से अपना अभियान पूरा किया था। इससे पहले एवरेस्ट पर सबसे ज्यादा 21 बार चढ़ाई करने का रिकॉर्ड कामी शेरपा के साथ उनके दो साथियों फुरबा ताशी शेरपा और अप्पा शेरपा के नाम था।

karma ritanepa - wikifeed

पर्वतारोहण अभियान का आयोजन करने वाली सेवेन समिट ट्रेक कंपनी के अध्यक्ष मिंगमा शेरपा ने बुधवार को यहां कहा, ‘कामी शेरपा ने नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है। इस सप्ताह के अंत तक वह बेस कैंप पहुंच जाएंगे।’ कामी शेरपा इस कंपनी के साथ विदेशी पर्वतारोहियों के लिए गाइड का काम करते हैं।

karma ritanepa - wikifeed

गुड़गांव में रहने वाले अजीत बजाज और दीया बजाज आज दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाले पहले भारतीय पिता-पुत्री बन गए। 24 वर्षीय दीया तड़के साढ़े चार बजे पर्वत शिखर पर पहुंची जबकि उनके पिता इसके 15 मिनट बाद एवरेस्ट को छूने में सफल रहे। अजीत और दिया ने 16 अप्रैल को अपना अभियान शुरू किया था।

karma ritanepa - wikifeed

अजीत की पत्नी शर्ली बजाज ने आज सुबह साढ़े दस बजे दोनों से बात की और इसके बाद पीटीआई से कहा कि अजीत और दिया दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर पर पहुंचने का अभियान पूरा कर बहुत खुश हैं। शर्ली ने कहा कि वे साफ तौर पर उत्साहित और खुश थे। दीया ने कहा कि उन्होंने एवरेस्ट से सूर्योदय होते देखा और वह एक खूबसूरत अनुभव था।

karma ritanepa - wikifeed

उन्होंने कहा कि अजीत के लिए यह उपलब्धि और भी खास है क्योंकि इस बार वह अपनी बेटी के साथ गए हैं। 53 वर्षीय अजीत पद्मश्री से सम्मानित किए जा चुके हैं। वह 2006-2007 में एक साल के भीतर उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव जाने वाले पहले भारतीय बन गए थे।  पिता-पुत्री के 20 मई को गुड़गांव लौटने की उम्मीद है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Add Comment

Click here to post a comment