Dahi Handi 2020 - wikifeed
Krishna Janmashtami and Dahi Handi 2020 Muhurta Puja and Date Time
NEWS

कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) के दिन क्यों फोड़ते हैं ‘दही हांडी’ (Dahi Handi)

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2020) और दही हांडी (Dahi Handi 2020)

कृष्ण जन्माष्टमी, दही हांडी, दही हांडी मुहूर्त, दही हांडी का अर्थ, जन्माष्टमी के दिन क्यों फोड़ते हैं दही हांडी

Krishna Janmashtami and Dahi Handi 2020 Muhurta Puja and Date Time: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार आज 11 अगस्त को देश के कई स्थानों पर धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। जन्माष्टमी (Janmashtami 2020), हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है. इसलिए देशभर में इस पर्व को धूमधाम से मनाया जाता है. माना जाता है कि बाल गोपाल कृष्ण का जन्म चंद्रोदय के समय भाद्रपद कृष्ण अष्टमी तिथि को हुआ था, जो इस बार 11 अगस्त को है. इसके मुताबिक 12 अगस्त 2020 को दही हांडी (Dahi Handi 2020) का उत्सव मनाया जाएगा.

Dahi Handi 2020 - wikifeed
Krishna Janmashtami and Dahi Handi 2020 Muhurta Puja and Date Time

दरअसल, कृष्ण जन्माष्टमी के अगले दिन ही दही हांडी (Dahi Handi) का उत्सव मनाया जाता है. इस मौके पर दही और माखन से भी मटकी को फोड़ा जाता है. मुख्य रूप से इस त्योहार को महाराष्ट्र और देश के कई अन्य क्षेत्रों में मनाया जाता है. महाराष्ट्र में यह गोपालकाला के नाम से प्रसिद्ध है। यह खेल भगवान श्रीकृष्ण (Lord Shri Krishna) की बाल लीलाओं का ही प्रतिबिंब है। वहीं कई अन्य क्षेत्रों में कृष्ण जन्माष्टमी पर भगवान श्रीकृष्ण की झाकियां निकाली जाती हैं.

दही हांडी (Dahi Handi) मुहूर्त

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि का प्रारंभ 11 अगस्त को सुबह 09 बजकर ​06 मिनट से हो गया है, जो 12 अगस्त को दिन में 11 बजकर 16 मिनट तक रहेगा। ऐसे में दही हांडी का खेल अष्टमी के अगले दिन आयोजित होता है, तो इस वर्ष दही हांडी का उत्सव 12 अगस्त दिन बुधवार को मनाया जाएगा।

Dahi Handi 2020 - wikifeed
Krishna Janmashtami and Dahi Handi 2020 Muhurta Puja and Date Time

दही हांडी का अर्थ

जन्माष्टमी के दिन दही हांडी का उत्सव धूम-धाम से मनाया जाता है। इस दिन भगवान के जन्म की खुशियां मनाने के लिए दही हांडी का आयोजन किया जाता है। इस दिन लड़कों का एक समूह एक मानव पिरामिड बनाता है और दही से भरे मिट्टी के बर्तन को तोड़ने का प्रयास करता हैं। बर्तन को जमीन से लगभग 30 फीट की ऊंचाई पर रखा जाता है।

जन्माष्टमी के दिन क्यों फोड़ते हैं दही हांडी

भगवान कृष्ण को दही और मक्खन बहुत पसंद है, वह इन सभी चीजों को चुराकर खाया करते थे। इसलिए गांव की महिलाएं दूध,दही और मक्खन की चीजों को किसी ऊंची जगह पर रखा करती थीं। लेकिन कृष्ण उन्हें चुराने की एक नई तरकीब निकालते और तब वह अपने दोस्तों के संग मिलकर मानव पिरामिड बनाते थे। इस तरह वह दही और मक्खन चुराया करते थे। इसके बाद से ही कृष्ण जन्माष्टमी के दिन दही हांडी उत्सव मनाया जाने लगा। हांडी तोड़ने वाले लड़कों के समूह को मंडल कहा जाता है और वे हांडी को तोड़ने के लिए अलग-अलग इलाकों में जाते हैं।

Dahi Handi 2020 - wikifeed
Krishna Janmashtami and Dahi Handi 2020 Muhurta Puja and Date Time

 

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

2 Comments

Click here to post a comment