Dhanteras shubh muhurt - wikifeed
Dhanteras 2020: Dhanteras kab hai, Dhanteras date and time, Dhanteras shubh muhurt, Dhanteras puja vidhi
NEWS

जानिए धनतेरस के दिन क्या खरीदना चाहिए?

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जानिए धनतेरस के दिन क्या खरीदना चाहिए? धनतेरस पर शाम के समय लक्ष्मी और कुबेर की पूजा व यम दीपदान क्यों करते है.

(Dhanteras 2020: Dhanteras kab hai, Dhanteras date and time, Dhanteras shubh muhurt, Dhanteras puja vidhi, dhanteras ke din kya kharidna chahie)

धनतेरस पर धनवंतरी देवता की पूजा की जाती है। जिससे हमारे परिवार के सभी सदस्यों के स्वास्थ्य की रक्षा हो सके। धनतेरस के दिन घर लाये 13 में से कोई भी 1 चीज खुद लक्ष्मी कुबेर दौड़े आयेंगे आपके घर द्वार और होगा चमत्कार। धनतेरस के दिन इन 13 चीजों को खरीदने से 21 हजार गुना प्रबल होगा कार्तिक कृष्ण पक्ष त्रयोदशी के दिन अमृत कलश लेकर भगवान धनवंतरी समुद्र मंथन से प्रकट हुए थे। इस कारण धनतेरस को अबुझ मुहूर्त भी कहा जाता है। इस वर्ष धनतेरस 13 नवम्बर 2020, शुक्रवार के दिन है। इस दिन जो भी शुभ कार्य या खरीदी कि जाए वह अमृत के समान अमर व स्थाई रहती है। धनतेरस पर शाम के समय लक्ष्मी और कुबेर की पूजा व यम दीपदान के साथ ही खरीदी के लिए भी श्रेष्ठ समय रहेगा। वैसे धनतेरस अबूझ मुहूर्त वाला दिन होता है। पुरे दिन खरीदी की जा सकती है। इस दिन चांदी और पीतल के बर्तन, चांदी के सिक्के व चांदी के गणेश व लक्ष्मी प्रतिमाओं की खरीदी करना शुभ व समृद्धिकारक होता है।

Dhanteras shubh muhurt - wikifeed

धनतेरस पर शाम के समय लक्ष्मी और कुबेर की पूजा व यम दीपदान क्यों करते है.

धनतेरस पर बर्तन धनतेरस के दिन ही भगवान धनवंतरी समुद्र से कलश लेकर प्रकट हुए थे। कलश को बर्तन का प्रतीक मानकर तभी से बर्तन का संबंध पर्व से जुड़ गया। देव धनवंतरी के अलावा इस दिन, देवी लक्ष्मी जी और धन के देवता कुबेर के पूजन की परम्परा है। इस दिन कुबेर के अलावा यमदेव को भी दीपदान किया जाता है। इस दिन यमदेव की पूजा करने के विषय में एक मान्यता है कि इस दिन यमदेव की पूजा करने से घर में असमय मृ्त्यु का भय नहीं रहता है। धन त्रयोदशी के दिन यमदेव की पूजा करने के बाद घर के मुख्य द्वार पर दक्षिण दिशा की ओर मुख वाला दीपक पूरी रात्रि जलाना चाहिए। इस दीपक में कुछ पैसा व कौडी भी डाली जाती है। साथ ही इस दिन नये उपहार, सिक्का, बर्तन व गहनों की खरीदारी करना शुभ रहता है। शुभ मुहूर्त समय में पूजन करने के साथ सात धान्यों की पूजा की जाती है। सात धान्य गेहूं, उडद, मूंग, चना, जौ, चावल और मसूर है। सात धान्यों के साथ ही पूजन सामग्री में विशेष रुप से स्वर्णपुष्पा के पुष्प से भगवती का पूजन करना लाभकारी रहता है। Dhanteras 2020: धनतेरस में घर के इन जगहों की जरूर करें सफाई, चमकती है किस्मत

धनवंतरी देव

इस दिन पूजा में भोग लगाने के लिए नैवेद्ध के रुप में श्वेत मिष्ठान्न का प्रयोग किया जाता है। साथ ही इस दिन स्थिर लक्ष्मी का पूजन करने का विशेष महत्व है। धन त्रयोदशी के दिन देव धनवंतरी देव का जन्म हुआ था। धनवंतरी देव, देवताओं के चिकित्सकों के देव है। यही कारण है कि इस दिन चिकित्सा जगत में बडी-बडी योजनाएं प्रारम्भ की जाती है। Diwali 2020: जानें माँ लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त, त्योहार का महत्व और इतिहास

धनतेरस पूजा का शुभ मुहूर्त (Dhanteras shubh muhurt)

धन तेरस के शुभ मुहूर्त-13 नवम्बर 2020 शुक्रवार को प्रदोषकाल शाम 5:37 से 8 बजे तक। प्रदोषकाल में दीपदान व लक्ष्मी पूजन करना शुभ रहता है। स्थिर लग्न सुबह 6:51 से 9:07 दोपहर 12:59 से 2:32 शाम को 5:43 से लेकर 7:42 मुहुर्त समय में स्थिर लग्न में पूजन व खरीदी करने से घर-परिवार में स्थायी लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

प्रातः6 से 9,दोपहर 12 से 1:30,शाम 4:30 से 6 रात 9 से 10.30 इस दिन यमराज और भगवान धनवंतरी के साथ ही मां लक्ष्मी और कुबेर की पूजा का महत्व है। धनतेरस पर खरीदारी का विशेष महत्व रहता है, कहा जाता है धनतेरस की खरीदारी सौभाग्य लेकर आती है। धनतेरस से ही दीपावली पर्व की शुरुआत हो जाती है। इस दिन सोना-चांदी, बर्तन, इलेक्‍ट्रानिक्‍स वस्तुएं खरीदना काफी शुभ माना जाता है। Diwali 2020: त्यौहार से पहले जान लीजिए ये खास बातें

धनतेरस के दिन घर लाये 13 में से कोई भी 1 चीज

1. धनतेरस के दिन गणेश लक्ष्‍मी की मूर्ति जरूर खरीदें इससे घर में धन संपत्ति का आगमन रहता है और पूरे साल कभी घर में धन की कमी नहीं रहती।

2..धातु का सामान जैसे सोना, चांदि व पीतल खरीदना सर्वश्रेष्‍ठ है इस दिन ये सब खरीदने से पूरे साल तक घर में लक्ष्‍मी बनी रहती है।

3.स्फ़टिक का या ताम्बे,अष्टधातु का श्रीयंत्र घर लाने से लक्ष्‍मी घर की ओर आकर्षित होती है। इसके बाद इस यंत्र की पूजा करें पूजा करने के बाद उसे  केशरिया रंग के कपड़े में बांधर धन स्‍थान पर रख दें। इससे हमेशा आपके घर में धन बना रहेगा।

4. इस मौके पर नई झाडू को घर लाए इससे नकारात्‍मक शक्तियां घर से वापस जाती है और लक्ष्‍मी आपके घर आएगी।

5. कौड़ी को धनतेरस के दिन घर लाकर पूजा कर अपने धन के स्‍थान पर रखने से आपके घर से कभी लक्ष्‍मी नहीं जाएगी।

धनतेरस के दिन शंख लाए और इसे दिवाली पजन के समय बजाए इससे घर में लक्ष्‍मी आती है।

7. धनतेरस के दिन नमक का भी काफी महत्‍व है कहते हैं कि इस दिन नमक को घर लाना चाहिए व पानी में मिलाकर पोछा लगाने से दरिद्रता चली जाती है।

8. धनतेरस के दिन धनिया जरूर लाएं एक धन का प्रतीक माना जाता है इसकी पूजा करके घर के आंगन या गमलों में इसे रख दें।

9. धनतेरस के दिन कुबेर की मूर्ति या तस्‍वीर लाकर इनकी पूजा करें और धन वाले स्‍थान पर रखे।

10. धनतेरस के दिन गोमती चक्र का भी बड़ा महत्‍व है इस दिन इसकी पूजा करके इसे तिजोरी या फिर खुद धारण करें।

11. धनतेरस के दिन सात मुखी रूद्राक्ष की पूजा करने से मां लक्ष्‍मी के साथ साथ महादेव की कृपा बनी रहती है।

12. धनतेरस के दिन दीपक जरूर लाना चाहिए साल का यही एक ऐसा दिन है जिस दिन यमराज की पूजा की जाती है इस दिन लक्ष्‍मी के साथ साथ यमराज के नाम का भी दिया जलाया जाता है।

13 धनतेरस के दिन कमलगट्टे(कमलबीज)खरीदने से साक्षात महालक्ष्मी का घर मे आगमन होता हैं! धनतेरस पर दान पुण्य हेतु

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

1 Comment

Click here to post a comment

  • […] नवंबर यानी आज रात्रि 9:30 बजे से त्रयोदशी तिथि का शुभारंभ हो रहा है. वहीं, धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त आज रात्रि 11:30 से 1:07 तक उसके बाद 2:45 से अगले दिन सुबह 5:57 तक होगी. वहीं, शुक्रवार को सुबह 5:59-10:06 बजे तक और 11:08 बजे से 12:51 बजे तक होगी. इसके अलावा दिवा 3:38 से संध्या 5:00 बजे तक भी आप धनतेरस की खरीदारी कर सकते हैं. जबकि, इस साल धनरेसस पूजन का अति शुभ मुहूर्त केवल 27 मिनट ही होगा. शाम 5:32 से 5:59 मिनट तक आप पूजा कर सकते हैं. ये भी पढ़े – जानिए धनतेरस के दिन क्या खरीदना चाहिए? […]